शरद यादव के जदयू से विदाई हो गईल: वशिष्ठ नारायण सिंह

शरद यादव के जदयू से विदाई हो गईल: वशिष्ठ नारायण सिंह

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष आ राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह कहले कि शरद यादव के जदयू से विदाई हो गईल बा। अब मात्र उनुका विदाई प मोहर लागल बाकी बा। उ कहले कि, शरद यादव के सदस्यता खत्म करे से जुड़ल बड़ कार्रवाई चलता। पार्टी राज्यसभा अवुरी चुनाव आयोग के दस्तावेज के संगे लिखित रूप से जानकारी दे देले बिया कि शरद यादव कईसे विरोधी पार्टी के रैली में शामिल रहले। अब राज्यसभा अवुरी चुनाव आयोग के फैसला लेवे के बा, बस पार्टी ओकर इंतजार करतीया।

वशिष्ठ नारायण कहले कि शरद यादव के पार्टी मौका देलस, लेकिन उ एकर फायदा ना उठवले। पार्टी उनुका से बेर-बेर निहोरा कईलस, लेकिन उ ना मनले। पार्टी के खिलाफ उ दोसरा पार्टी के रैली आ कार्यक्रम में चल गईले अवुरी विरोधी राजनीतिक दल के संगे मंच साझा कईले। एकरा से इ साफ होखता कि उ खुद पार्टी छोड़ दिहले अवुरी पद के त्याग क देले बाड़े।

वशिष्ठ सिंह आगे कहले कि जदी वन टाइम चुनाव के घोषणा भईल त ओकर चुनौती के स्वीकार कईल। जब एकरा प फैसला आई त ओकरा प पार्टी स्तर प विचार कईल जाई। जदी अयीसन घोषणा होखता त ओकरा में कवनो परेशानी नईखे।

उ कहले कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद विपक्ष में बाड़े, त उ का करीहे? सिर्फ आलोचना क सकतारे। भागलपुर में उ जवना भाषा अवुरी शब्द के इस्तेमाल कईले उ सार्वजनिक जीवन के उल्टा बा। उनुका मन में जदी कवनों परेशानी बा त ओकरा के जतावे खाती संतुलित भाषा आ शब्द के इस्तेमाल करे के चाही। उनुका जईसन नेता से स्तरहीन भाषा के अपेक्षा लोकतंत्र में नईखे कईल जा सक, लेकिन उनुकर मानसिक संतुलन खराब होखे से अयीसन स्थिति भईल बा।

उहे बिहार के पूर्व मंत्री श्याम बिहारी प्रसाद, पूर्व विधायक कृष्णनंदन यादव अवुरी छोटेलाल राय भारी संख्या में अपना-अपना समर्थक के संगे सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में शामिल हो गईले। वशिष्ठ नारायण सिंह के माजूदगी में इहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में श्री श्याम बिहारी प्रसाद अवुरी कृष्णनंदन यादव जदयू में शामिल होखे के घोषणा कईले। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह उनुका के पार्टी के सदस्यता दियवले।

  • Share on: