गरीबी के आधार प आरक्षण लागू होखे के चाही: पप्पू यादव

गरीबी के आधार प आरक्षण लागू होखे के चाही: पप्पू यादव

जन अधिकार पार्टी के संरक्षक अवुरी सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव कहले कि गरीबी के आधार प आरक्षण लागू होखे के चाही। सभे जाति के अमीर के आरक्षण बंद होखे के चाही। आरक्षण के नाम प राजनीति बंद होखे के चाही।

सोमवार के पटना के श्रीकृष्‍ण मेमोरियल हॉल में आयोजित युवा क्रांति संवाद के संबोधित करत पप्पू यादव कहले कि युवा बेरोजगार बाड़े अवुरी उद्योग-धंधा बंद होखता। राज्य में उनुकर सरकार बनल त युवा के रोजगार, निमन शिक्षा अवुरी किसान के आर्थिक हालत में सुधार खाती प्रयास कईल जाई।

सांसद रोजगार ना त सरकार ना आंदोलन के घोषणा कईले। उ कहले कि 28 नवंबर के प्रखंड स्‍तर प रोजगार ना त सरकार ना के नारा के संगे प्रदर्शन कईल जाई। 24 फरवरी के राज्यभर में नाकाबंदी होई। उ कहले कि धान, पान अवुरी मखान के खेती होखे वाला बिहार में किसान बदहाल बाड़े।

उ कहले कि बालू बंद होखे के चलते लाखों मजदूर बेरोजगार हो गईले। निर्माण काम ठप पड़ गईल। अवुरी एकर सीधा असर उद्योग-धंधा प परल।

पप्पू यादव कहले कि बालू माफिया के सभ पार्टी के नेता संरक्षण मिलल बा। उ कहले कि भ्रष्‍टाचार प रोक लगावे खाती जमीन के डिटिजलाइजेशन, धन के विकेंद्रीकरण, जमीन के सीलिंग अवुरी सहकारिता के बढ़ावा दिहल जरूरी बा।

उ कहले कि नेता, अधिकारी अवुरी माफिया के संपत्ति के स्रोत बतावाल जरूरी कईल जाए के चाही, नाही त उनुकर संपत्ति जब्‍त करे के प्रावधान हखे के चाही।

आरक्षण के चर्चा करत सांसद कहले कि जनसंख्‍या अवुरी गरीबी के आधार प आरक्षण के तय होखे के चाही।

पप्पू यादव कहले कि उत्‍तर बिहार के नदी में आवे वाला बाढ़ भ्रष्‍टाचार के उपज बा। राहत आ पुनर्वास के नाम प आवे वाला सरकारी राशि के ठेकेदार, नेता अवुरी अधिकारी मिल-जुल के लूट लेतारे।

उ टाल अवुरी दियारा क्षेत्र के समस्या के समाधान ना होखे प चिंता जतवले। उ कहले कि बाढ़-मोकामा में रेलवे के बहुत फैक्ट्री बंद हो गईल। उ कहले कि धर्म अवुरी जाति के नाम प बहुते आंदोलन होखता, लेकिन बेरोजगारी, गरीबी अवुरी भूखमरी के खिलाफ कवनो आंदोलन नईखे होखत।

  • Share on: