बिहार के एटीएम खाली, नोटबंदी घोटाला के भारी असर, बैंक हाथ खड़ा कईलस: तेजस्‍वी

बिहार के एटीएम खाली, नोटबंदी घोटाला के भारी असर, बैंक हाथ खड़ा कईलस: तेजस्‍वी

बिहार के राजधानी पटना समेत राज्य के सभे जिला के एसबीआई एटीएम से कैश गायब बा। अब अयीसन में सवाल उठता कि आखिर पईसा कहां चल गईल। ए सभ सवाल के बीच बैंक के ग्राहक जूझतारे अवुरी बैंक अधिकारी भी परेशान बाड़े।

बैंक के एटीएम के हालात त बहुते खराब बा। लोग पईसा खाती एक से दोसरा एटीएम के दौड़ लगावत-लगावत थाक जातरे। खासकर ए समय शादी-बिआह के मौसम बा, लोग आपन जमा पूंजी बैंक में एही कुल समय खाती बचा के जामा कईले रहले। अब बैंक में जाए प पचास हजार मांगे प पांच हजार से काम चलावे के कहल जाता।

बीस हजार निकाले के बात प दु हजार से काम चलावे के कहल जाता। नगदी के कमी से चारों ओर त्राहिमाम मचल बा। ए बीच नगदी के कमी से जुडल बिहार के अलग-अलग जिला के बहुत खबर आईल।

ए खबर के मानल जाए, त बैंक अवुरी ग्राहक के बीच तनाव के हालत बन गईल बा। कहीं-कहीं त ग्राहक अवुरी बैंक कर्मचारी के बीच झड़प के हालत बन गईल। लेकिन बैंक के अधिकारी, आरबीआई के अधिकारी चाहे सरकार केहु कुछ बोले खाती तैयार नईखे।

ए समस्‍या प बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव केंद्र के नरेंद्र मोदी मोदी सरकार के घेरत हमला बोलले।

तेजस्‍वी अपना ट्वीट में कहले कि पछिला बहुत दिन से बिहार के अधिकांश एटीएम खाली बा। लोग के सोझा गंभीर संकट बा। लोग के बैंक में जमा आपन पईसा बैक ज़रूरत के हिसाब से ओ लोग के नईखे देत।

तेजस्वी ए समस्या खाती नोटबंदी के जिम्मेवार बतावत कहले कि नोटबंदी के घोटाला के असर अतना व्यापक बा कि बैंक हाथ खड़ा करता। नवका नोट सर्कुलेशन से पूरा तरह गायब बा।

मालूम रहे कि आजकाल अलग-अलग बैंक के एटीएम में पईसा के कमी देखाई देता। जहां पईसा मिलता, उहां ग्राहक के लंबा कतार देखे के मिलता। खुद अपने पईसा खाती ग्राहक एने-ओने भटकतारे।

  • Share on:
Loading...