दिवाली सिर्फ एगो त्योहार ना ह, इहाँ से हर्ष अवुरी उल्लास के शुरुवात होखेला

दिवाली एगो त्योहार भर ना ह, असल में त इ कई गो त्योहार के एगो कड़ी ह। ए पर्व के संगे पांच पर्व जुडल बा। सभ पर्व के संगे कथा जुड़ल बा।

दिवाली एगो त्योहार भर ना ह, असल में त इ कई गो त्योहार के एगो कड़ी ह। ए पर्व के संगे पांच पर्व जुडल बा। सभ पर्व के संगे कथा जुड़ल बा।

त्योहार चाहे उत्सव हमनी के सुख अवुरी उल्लास के पहचान होखेला अवुरी परिस्थिति के मुताबिक त्योहार आपन रंग-रुप अवुरी आकार बदलत रहेला। त्योहार मनावे के विधि-विधान तक भिन्न हो सकता। जहां तक हिन्दू धर्म के मानेवाला लोग के त्योहार के बात बा, त इहाँ सभ त्योहार से कवनो ना कवनो पौराणिक कथा बा अवुरी ए कथा कहानी में बाकी कवनो तर्क होखे चाहे ना होखे, आस्था जरूर बा।

कार्तिक मास के अमावस्या के दिन दिवाली के त्योहार मनावल जाला। दिवाली के दीपावली भी कहल जाला। दिवाली एगो त्योहार भर ना ह, असल में त इ कई गो त्योहार के एगो कड़ी ह। ए पर्व के संगे पांच पर्व जुडल बा। सभ पर्व के संगे कथा जुड़ल बा।

दिवाली के त्योहार दिवाली से दू दिन पहिले शुरू होखेला अवुरी एकरा दू दिन बाद खत्म होखेला। पांच दिन तक चलेवाला ए उत्सव के शुभारंभ कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष में त्रयोदशी के दिन से होखेला। ए दिन के धनतेरस कहल जाला। ए दिन आरोग्य (निरोग/डॉक्टर/चिकित्सक) के देवता धन्वंतरि के पूजा कईल जाला। ए दिन नया बर्तन, गहना जईसन धातु के बनल समान खरीदे के रिवाज बा। एही दिन घी (घीव) के दिया जराके देवी लक्ष्मी के आहवान कईल जाला।

दूसरा दिन, माने चतुर्दशी के नरक-चौदस मनावल जाला। एकरा कतही-कतही छोट दिवाली कहल जाला। ए दिन एगो पुरान दीया में सरसों के तेल अवुरी पांच प्रकार के अनाज डाल के घर के नली प जला के ध दिहल जाला। ए दिया के "यमदिया" कहल जाला।

कथा के मुताबिक भगवान श्री कृष्ण एही दिन नरकासुर राक्षस के वध क ओकरा कारागार से 16,000 कन्या के मुक्त करवले रहनी।

तीसरा दिन, माने अमावस्या के दिवाली के त्योहार मनावल जाला। ए दिन देवी लक्ष्मी अवुरी गणेश के पूजा कईल जाला। दिवाली के बाद अन्नकूट मनावल जाला। इ दिवाली के श्रृंखला में चौथा त्यौहार ह। ए दिन गोवर्धन पर्वत के पूजा कईल जाला।

शुक्ल द्वितीया, माने पंचवा दिन भाई-दूज भा भैयादूज के त्योहार होखेला। मान्यता बा कि एह दिन जदी भाई अवुरी बहिन यमुना नदी में एक संगे स्नान करें त भाई के अकाल मृत्यु से छुटकारा मिल जाला।

  • Share on:
Loading...