1000+ भोजपुरी के कहाउत अवुरी मुहावरा: क्रमांक 1001 से आगे

1001. हाथी से हथखेल?
1002. हित कुटुम अइले-गइले।
1003. हेल बा़ंट पोंछ अलगवले।
1004. होत परात किरिया लेब, कारी भइंस अहीर के देब।
1005. होसियार के सउदा मने-मने।
1006. होसियार लइका हगते चिन्हाला।
1007. बकरी मोटाले त लकड़ी चबाले.
1008. रहे त फूंक फांक नाही त चुप चाप.
1009. लोहा के सस्ताई भईल त सियार गढ़ावे टांगा।
1010. जे हर चलावे से खर खाए, बकरी आचार खाए।

1011. भात खात भतुली बथता।
1012. राजा के धन प झींगुर बईठल त कहलस कि, हमहु दलाले हई।
1013. आपन भूख त चुल्ही लूक, सइयाँ भूख त कपरा दुख।
1014. मनवा करें पहिनी छनतार, करमे लिखल भेंड़ी के बार।
1015. देखले के बाड़न पिया, चीखने के नाहीं, सूरत बा लेकिन लज्जत नाही।
1016. जवने बांस के बांस बंसऊंडा, वोही बांस के सूप दऊरा।
1017. गोदी में लईका शहर में हाल्ला।
1018. छाव बिटिया छाव करे, अंगूरी काट के घाव करे।
1019. भर घर देवर, भतारे से मस्स्ल्ला।
1020. बाबा के दुलारी बाबा डाले ना कुदारी।

भोजपुरी कहाउत अवुरी मुहावरा के पूरा संग्रह के संख्या के आधार प बाँटल बाटे, पढ़े खातिर नीचे दिहल लिंक प क्लिक करी
क्रमांक 1 से लेके 50 तक
क्रमांक 51 से लेके 100 तक
क्रमांक 101 से लेके 150 तक
क्रमांक 151 से लेके 200 तक
क्रमांक 201 से लेके 250 तक
क्रमांक 251 से लेके 300 तक
क्रमांक 301 से लेके 350 तक
क्रमांक 351 से लेके 400 तक
क्रमांक 401 से लेके 450 तक
क्रमांक 451 से लेके 500 तक
क्रमांक 501 से लेके 550 तक
क्रमांक 551 से लेके 600 तक
क्रमांक 601 से लेके 650 तक
क्रमांक 651 से लेके 700 तक
क्रमांक 701 से लेके 750 तक
क्रमांक 751 से लेके 800 तक
क्रमांक 801 से लेके 850 तक
क्रमांक 851 से लेके 900 तक
क्रमांक 901 से लेके 950 तक
क्रमांक 951 से लेके 1000 तक
क्रमांक 1001 से आगे

............. संकलन जारी बा, अगर आपके भीरी कवनो कहाउत चाहे मुहावरा होखे त हमनी के भेजी, आप कहाउत भेजे खातिर नीचे कमेंट करीं चाहे ईमेल करी। ईमेल बा research@thebhojpuri.com

  • Share on:
Loading...