हमरी शीतली मईया बड़ दुलरी

हमरी शीतली मईया बड़ दुलरी
बड़ दुलरी हो, मईया बड़ दुलरी

मईया डोली चढ़ी आवेली हमरी नगरी
हमरी नगरी हो, मईया हमरी नगरी

जाहूं हम जनीतीं शीतली मईया अइहें
शीतली मईया अईहें हो, शीतली मईया अईहें

मईया डगर बहरती अपनी अंचरी
अपनी अंचरी हो, मईया अपनी अंचरी

हमरी शीतली मईया बड़ दुलरी

  • Share on:
Loading...