शाहरुख़ खान के डायलॉग में छिपल जीवन के समस्या के समाधान

हमनी में से जादातर लोह शाहरुख खान के फिल्म के दीवाना हवे, खास तौर उनुकर डायलॉग के त बतिए कुछू अवुरी बा। हर मूड अवुरी हर मौसम में फिट रहे वाला शाहरुख खान के अयीसने 11 डायलॉग , जवना में जीवन के हर समस्या के समाधान बाटे!

जब मन निराशा होखे – 'हार के जीतने वाले को ही बाज़ीगर कहते हैं'

जब प्यार में दिल टूटे – 'हम एक बार जीते हैं, एक बार मरते हैं, शादी भी एक बार होती है, और प्यार भी एक बार ही होता है।'

जब कवनो बड़ गलती हो जाए – 'बड़े-बड़े शहरों में ऐसी छोटी-छोटी बातें होती रहती है'

जब आपके सपना पूरा हो जाए – 'कहते हैं अगर किसी चीज़ को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने कि कोशिश करती हैं।'

जब नशा में होखी – 'कौन कमबख्त बर्दास्त करने को पीता है .... हम तो पीते ही इसलिए हैं कि यहाँ बैठ सकें, तुम्हें देख सकें, तुम्हें बर्दास्त कर सकें।'

जब दुविधा होखे – 'आज एक और हंसी बाँट लो, आज एक और दुआ मांग लो, आज एक और आँसू पी लो, आज एक और ज़िंदगी जी लो, आज एक और सपना देख लो, आज ... क्या पता कल हो, ना हो।'

जब सरकारी बाबू चमकावे लागस - 'डोंट अंडरएस्टिमेट द पावर ऑफ अ कॉमन मैन'

जब घोर निराशा होखे – 'पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त'

जब आप हार जायीं – 'दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं, विनर और लूजर। लेकिन ज़िंदगी हर लूजर को एक मौका ज़रूर देती हैं, जिसमे वह विनर बन सकता हैं।'

जब आगे के राह दुविधा पैदा करे - 'ज़िंदगी में अगर कुछ बनना हो, कुछ हासिल करना हो, कुछ जीतना हो, तो हमेशा दिल कि सुनो। और दिल कोई भी जवाब ना दे तो, आँखें बंद करके अपनी माँ और पापा का नाम लो। फिर देखना हर मंज़िल पार कर जाओगे, हर मुश्किल आसान हो जाएगी। जीत तुम्हारी होगी, सिर्फ तुम्हारी।'

जब मुंहमियाँ मिट्ठू बने के होखे – 'डॉन को पकड़ना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है।'

  • Share on:
Loading...