महिला से बेडरूम में होखेवाला कुछ खतरनाक गलती

महिला से बेडरूम में होखेवाला कुछ खतरनाक गलती

बंद कमरा के पीछे पति-पत्नी के संबंध में कवन चीज़ दरार ले आई, कवन मजबूत करी, एकरा प आमराय नईखे बन सकत। केहु के कुछ भावेला, त केहु के कुछ तनिको ना भावे। ठीक एही तरे 'रात्री क्रीडा' (यौन संबंध) के समय कुछ अयीसन गलती हो जाला जवन कि केहु के मूड-मिजाज बिगाड़ सकता, जीवन बर्बाद क सकता।

जदी ए प्रकार के गलती लगातार होखे त एकर सबसे बाउर असर जीवन प परेला। एगो बियाहल आदमी के जीवन पूरा तरीका से बर्बाद हो जाला।

बियाह के बाद पति-पत्नी के प्‍यार के देखावे खातिर बेडरूम से निमन जगह नईखे हो सकत। लेकिन एही बेडरूम में महिला से कुछ अयीसन गलती हो जाला, जवन कि ए पल के अलावे अवुरी बहुत कुछ प असर डालेला।

महिला के ओर से ए गलती के चलते, ना त उ खुद ए सुख के आनंद ले पावेले, ना ओकर पुरुष। नतीजा में दुनो लोग के बीच अनबन हो सकता अवुरी संबंध बिगड़ सकता। एहसे महिला के बेडरूम में कुछ खास आदत से परहेज करे के चाही –

मन के बात बिना कहले समझावे के कोशिश
जादातर महिला के विचार बा कि बेडरूम में उनुका आवते, उनुकर पुरुष उनुका मन के बात समझ जईहे। उ लोग सोचेली कि, मर्द त उनुका मन के बात बुझते बाड़े त मुंह से कहला के कवनो जरूरत नईखे। महिला अपना मन के मुताबिक हरेक भाव के कल्पना कईले रहेली। लेकिन, उनुकर पुरुष जदी उनुका मन के मुताबिक व्यवहार ना कईले त उ तुरंत भड़क उठेली। महिला के समझे के चाही कि उ कवनो खुला किताब ना हई, जवन केहु बिना कहले पढ़ लीही। अपना मन के बात अपना पुरुष के बतावल ओतने जरूरी बा जतना कि बाकी काम।

नयापन से परहेज
जादातर मर्द एकही प्रकार के संबंध से बहुत जल्दी अकुता जाले, ए लोग के मन में हमेशा कुछ नाया करे के चाह रहेला। जदी अयीसन विचार कवनो मर्द के मन आवे त महिला के ओकर सहयोग करे के चाही। लेकिन, देखे में आवेला कि गवँई समाज चाहे शहर के मध्य वर्ग के महिला अयीसन कवनो प्रयोग से परहेज करेली अवुरी ए संबंध के एकही राह प चलावल पसंद करेली। नतीजा में मर्द धीरे-धीरे उनुका संगे ए प्रकार के संबंध में रुचि लिहल कम क देवेला।

मर्द के हमेशा तैयार समझे के नादानी
महिला लोग सोचेला कि पुरुष त सेक्स खातिर हमेशा तैयार रहेला, जाहाँ अवुरी जब कहब, तबे उ एकरा खातिर तैयार हो जईहे। लेकिन अयीसन नईखे। पुरुष होखे चाहे स्त्री, सभके हरेक काम के करे खातिर मूड-मिजाज के जरूरत होखेला। जबर्दस्ती के संबंध में पुरुष पूरा मन से सहयोग ना करस जेकरा चलते ए प्रकार के संबंध मात्र खानपूर्ति रह जाला।

फरमाइश
कुछ महिला यौन संबंध के बीच अपना मन से अनाप-शनाप फरमाइश शुरू क देवेली। ए लोग के सोच रहेला कि, ए समय हम मर्द से जवन बात कहब उ सभ कबूल क लीही। बात मनवावे खातिर बहुत समय बा, इ समय मुंह कम अवुरी देह ढ़ेर चलावे खातिर बनल बा। ए प्रकार के आदत से मर्द के मन खिन्न हो सकता चाहे ध्यान भटक सकता अवुरी नतीजा में दुनो पक्ष अधूरा रह सकता।

साफ-सफाई
कवनो मर्द गंदा, चाहे बदरंग महिला से शारीरिक संबंध बनावे में रुचि ना रखेला। जदी आपके शरीर साफ-सुथरा बा त ए प्रकार के परेशानी आपके सोझा ना आई। दुनो बिना कवनो संकोच के ए पल के आनंद लीही। लेकिन, महिला खासतौर प गवँई परिवेश के महिला अपना शरीर के साफ-सफाई प ध्यान ना देवेली, जवना के चलते मर्द के ध्‍यान भंग हो सकता।

अचानक मुंह से केहु अवुरी के नाम निकलल
जदी कवनो महिला के बियाह से पहिले केहु संगे शारीरिक संबंध रहल बा, त ओकरा खास ध्यान के देवे के जरूरत बा। जदी अयीसन होखे त कम से कम ए समय उ अपना अतीत के अपने तक समेट के राखे। बेडरूम में संबंध के दौरान गैर पुरुष के नाम सुनला के बाद आपके पुरुष के भारी क्रोध हो सकता, संगही आपके एक गलती, आपके पूरा जीवन के नाश क सकता। एहसे बेडरूम में ना त पुरनका संबंध के याद करीं, ना ओकरा बारे में सोची, ना ओकर तुलना वर्तमान स्थिति से करी।

  • Share on:
Loading...