मूंगफली | युवा, बुजुर्ग से लेके छोट बालक तक के स्वास्थ खाती फायदेमंद

मूंगफली | युवा, बुजुर्ग से लेके छोट बालक तक के स्वास्थ खाती फायदेमंद

मूंगफली ओइसे त एगो प्रमुख तिलहन फसल ह अवुरी एकर उपज बालुई (रेतीला) माटी में होखेला। इहे सस्ता अवुरी प्रोटीन से भरपूर मूंगफली हमनी के शरीर के अलग-अलग अंग प जबर्दस्त असर करेला। फायदा पहुंचावेला।

मूंगफली में मांस, अंडा अवुरी फल से कई गुना जादे प्रोटीन होखेला एही चलते खाए में स्वादिष्ट इ अनाज युवक, बुजुर्ग, किशोर से लेके छोटे-छोटे बालक तक के बहुत फायदा पहुंचावेला। दुधमुंहा बालक के मूंगफली से बनल समान खियावे से बच्चा के विकास तेज़ी से होखेला अवुरी ओकरा प कवनो खराब असर भी ना परेला।

मूंगफली के गुण के पुष्टि करत भईल एगो शोध के मुख्य शोधकर्ता, लंदन के किंग्स कॉलेज के मैरी फीने के कहनाम बा कि, "शोध के नतीजा से साबित होखता कि मूंगफली खाए से स्तनपान के समय सीमा प कवनो असर ना परेला। हाँ, जदी बालक के छह महीना के उम्र से पहीले ठोस समान खियावल जाए त ओकरा स्तनपान के समय सीमा प जरूर असर पड़ सकता।"

इ शोध एलर्जी एंड क्लिनिकल इम्यूनोलॉजी ऑनलाइन पत्रिका में प्रकाशित भईल बा।

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्सस डिजिजेज (एनआईएआईडी) के मार्शेल प्लॉट के कहनाम बा कि, "ए शोध के नतीजा से पता चलता कि बालक के शुरुआत से मूंगफली से बनल समान देवे के चाही, ताकि बाद में मूंगफली के प्रति ओकरा में एलर्जी मत पैदा होखे।"

एकरा से पहीले एगो शोध में पता चलल रहे कि, जदी बालक के शुरुआत में मूंगफली से बनल खाए वाला आहार दिहल जाए त बालक में आगे चल के एलर्जी के खतरा 81 प्रतिशत कम हो जाला।

  • Share on:
Loading...