भारत समेत चार देश के भाग ना लेवे के घोषणा के बाद सार्क सम्मेलन रद्द

भारत समेत चार देश के भाग ना लेवे के घोषणा के बाद सार्क सम्मेलन रद्द

उरी हमला के बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्ता में आईल तनाव आखिरकार इस्लामाबाद में होखेवाला सार्क सम्मेलन के रद्द करे तक पहुंचा दिहलस।

काठमांडू में नेपाल के एगो वरिष्ठ अधिकारी कहले कि, 2016 के सार्क सम्मेलन रद्द क दिहल बा। ए सम्मेलन के अध्यक्षता करेवाला नेपाल के ओर आधिकारिक तौर प सम्मेलन रद्द होखे के घोषणा भारत, बांग्लादेश, भूटान अवुरी अफगानिस्तान के ए सम्मेलन में भाग ना लेवे के घोषणा के बाद आईल बा।

ए साल के नवम्बर में इस्लामाबाद में होखेवाला सार्क सम्मेलन के रद्द करे के फैसला के पीछा तर्क दिहल गईल कि, "जब चार देश एकरा में भाग नईखन लेत, त सार्क सम्मेलन करे के सवाले नईखे उठत।"

नेपाल के एगो वरिष्ठ अधिकारी कहले कि, "अबकी बेर सार्क सम्मेलन के अध्यक्षता नेपाल करेवाला रहे, लेकिन सम्मेलन पहिले पैदा भईल विवाद के मामला में कवनो समाधान नईखे। हमनी के रीत के निभावे के अवुरी ओकरा बाद सदस्य देश के भाग ना लिहला के चलते 2016 सार्क सम्मेलन के रद्द करे के घोषणा क दिहल जाई।"

हालांकि, नेपाली अधिकारी कहले कि, 'नेपाल के चूंकि अध्यक्षता करे के बा एहसे उ अभी तक अपना खाती ए विषय प कवनो फैसला नईखे कईले।' उ कहले कि, "हमनी के इच्छा बा कि जगह के बदलाव के संगे ए सम्मेलन के कईल जाए, लेकिन एकरा सफलता के केहु गारंटी नईखे दे सकत।"

मालूम रहे कि सार्क सम्मेलन के रद्द होखे के रूपरेखा उरी हमला के बाद भारत-पाकिस्तान रिश्ता में आईल तनाव के संगे बने लागल रहे। ए मामला में भारत के रुख के समर्थन करत बांग्लादेश, भूटान अवुरी अफगानिस्तान आधिकारिक तौर प ए सम्मेलन से दूर क चुकल बा।

ए तीनों देश के घोषणा से पहिले भारत अपना ओर से कहलस कि उ पाकिस्तान में होखेवाला सार्क सम्मेलन में भाग ना लीही। मंगलवार के विदेश मंत्रालय एगो बयान जारी क कहलस कि, आज के हालात में भारत, इस्लामाबाद में होखेवाला सार्क सम्मेलन में भाग ना लीही। बयान में कहल गईल कि, क्षेत्रीय सहयोग आ आतंक एक संगे नईखे चल सकत।

मालूम रहे कि, 1985 के बाद इ पहिला मौका होई जब भारत सार्क सम्मेलन के बहिष्कार करता। भारत सम्मेलन से अपना के दूर राखे के पीछे पाकिस्तान प आंतक के पनाह देवे के आरोप लगावता।

ओने, भारत के फैसला प पाकिस्तान कहलस कि, सार्क सम्मेलन में भाग ना लेवे के भारत के फैसला दुर्भाग्यपूर्ण बा। पाकिस्तानी विदेश विभाग के एगो प्रवक्ता कहले कि, पाकिस्तान भारतीय प्रवक्ता के ओ ट्वीट के संज्ञान लिहलस जेकरा कहल रहे कि, भारत इस्लामाबाद में होखे वाला 19वां दक्षेस शिखर सम्मेलन में भाग ना लीही।

एने सम्मेलन में भाग ना लेवे प बांगलादेश आपन पक्ष राखत कहलस कि, "बांग्लादेश के निजी मामला में एक देश के ओर से बढ़त दखलंदाज़ी से पैदा भईल माहौल में सार्क सम्मेलन के सफलता असंभव बा।" भूटान कहले बा कि, "भूटान सदस्य के चिंता से चिंतित बा जवना के चलते उ अपना के सार्क सम्मेलन में भाग लेवे में अक्षम पावता।"

  • Share on:
Loading...