महागठबंधन में 'सबकुछ ठीक नईखे', कुछ त गड़बड़ जरूर बा, नीतीश कवना राजनीति में रंग भारतारे

नीतीश कुमार इशारा-इशारा में सरकार चलावे खाती आज़ादी के मांग करतारे त जब-तब भाजपा, ख़ास तौर प अमित शाह अवुरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संगे बनत-बिगड़त सम्बन्ध के चर्चा उनुका सोझा मुश्किल खाड़ा क देता।

नीतीश कुमार इशारा-इशारा में सरकार चलावे खाती आज़ादी के मांग करतारे त जब-तब भाजपा, ख़ास तौर प अमित शाह अवुरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संगे बनत-बिगड़त सम्बन्ध के चर्चा उनुका सोझा मुश्किल खाड़ा क देता।

कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल अवुरी जनता दल यूनाइटेड के शासन वाला बिहार के राजनीती फेर गरमाए लागल। लालू प्रसाद यादव अवुरी नीतीश कुमार के बीच कथित जोर-अजमाइश राज्य के राजनितिक के अवुरी धारदार बना देलस।

भारतीय जनता पार्टी के ओर नीतीश के बढ़त डेग के पीछा लालू यादव के कद बाटे। जदयू सूत्र के मुताबिक लालू अब नीतीश के कवनो बात माने के तैयार नईखन अवुरी लगातार अपना दुनो बेटा के पीठ प सवारी करत रहतारे।

महागठबंधन के सबसे बड दल होखला के नाता से सरकार में उपमुख्यमंत्री समेत महत्वपूर्ण पद पावे वाली राजद राज्य में लगातार अपना जनाधार के बढ़ावे में जुटल बिया, जबकि कांग्रेस अपना के मजबूत करे के कोशिश में राजद के ए कदम से कदम मिला के चलातिया। ए सभ के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आपन 'संकल्प यात्रा' लेके अकेले निकलले।

राजद के ओर से लगातार कहल जाता कि शराबबंदी अवुरी प्रकाश उत्सव महागठबंधन सरकार के कदम रहे, लेकिन नीतीश एकर फायदा अकेले उठावे के कोशिश करतारे। कुल मिलाके दुनो दल के बीच जनता में सबकुछ ठीक-ठाक होखे के दावा के बावजूद सबकुछ ठीक नईखे। कहीं ना कहीं, गड़बड़ त जरूर बा।

विधानसभा चुनाव में एकजुट होके भाजपा के बरियार हार के स्वाद बतावे वाला महागठबंधन अब भारतीय जनता पार्टी के फेर मौका देवे लागल बा। नीतीश कुमार इशारा-इशारा में सरकार चलावे खाती आज़ादी के मांग करतारे त जब-तब भाजपा, ख़ास तौर प अमित शाह अवुरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संगे बनत-बिगड़त सम्बन्ध के चर्चा उनुका सोझा मुश्किल खाड़ा क देता।

ए चर्चा के हवा भी नीतिशे कुमार देतारे। एक त नोटबंदी के समर्थन, फेर समीक्षा के बात अवुरी बाद में ओकरा से पीछा हटल ए चर्चा के लगातार गरम राखता।

पुस्तक मेला में जब नीतीश कुमार 'कमल' में रंग भरले त फेर आवाज़ आईल कि, ‘नीतीश कमल (भाजपा) के संगे नीक लागेले'।

एकरे प भाजपा नेता आ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कहले - "नीतीश कुमार अपना राजनीती में रंग भरत रहले। उ लालू जी के बतावल चाहत रहले कि हम आजाद बानी"।

गिरिराज आ नीतीश के सम्बन्ध कबहूँ ठीक नईखे रहल। गिरिराज जब बिहार के जदयू-भाजपा सरकार में मंत्री रहले, तबहूँ उ लगातार नीतीश कुमार प हमला करत रहले।

नीतीश आ गिरिराज के सम्बन्ध अईसन बा कि जदयू-भाजपा सरकार में भाजपा के कोटा से उपमुख्यमंत्री पद प रहेल सुशिल मोदी तक के 'नीतीश के स्टेपनी' करार दे चुकल बाड़े।

हालाँकि गिरिराज के बयान प लालू के छोट बेटा आ बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सफाई देत देखाई दिहले। तेजस्वी कहले - "कमल सिर्फ भाजपा के ना ह। बहुत घर में रोशनी खाती 'लालटेन' के इस्तेमाल होखेला। जदी केहू के ख़ुशी होखता त नीमन बात बा"।

लेकिन ए सभके बावजूद, अब साफ़-साफ़ देखाई देता कि महागठबंधन में कम से कम 'सबकुछ' त ठीक नईखे। कुछ त अईसन बा जवना के फयाद विरोधी दल उठावता। हो सकता कवनो जवालामुखी होखे जवन कि अभी सुतल होखे, कहियो फाटे, चाहे सुतले रह जाए।

  • Share on:
Loading...