धूम्रपान के चलते 11 प्रतिशत से ज्यादा लोग के मौत, भारत शीर्ष चार देश में शामिल

धूम्रपान के चलते 11 प्रतिशत से ज्यादा लोग के मौत, भारत शीर्ष चार देश में शामिल

एगो नया अध्ययन में इ जानकारी सोझा आईल कि विश्व में साल 2015 में मरे वाला हरेक 10 लोग में से एक से ज्यादा के मौत धूम्रपान के चलते भईल एकरा में से 50 प्रतिशत से ज्यादा मौत सिर्फ चार देश में भईल बा जेकरा में भारत शामिल बा।

चिकित्सकीय पत्रिका 'द लैनसेट' में प्रकाशित ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज (जीबीडी) के अध्ययन के मुताबिक साल 2015 में विश्व में भईल 64 लाख लोग के मौत में 11 प्रतिशत से ज्यादा लोग के मौत के कारण धम्रूपान रहे अवुरी एकरा में से 52.2 प्रतिशत लोग के मौत चीन, भारत, अमेरिका अवुरी रूस में भईल।

पुरुष के धूम्रपान करे के मामला में चीन, भारत अवुरी इंडोनेशिया तीन सबसे पहिला देश बा। साल 2015 में विश्व में धूम्रपान करे वाला पुरूष में से करीब 51.4 प्रतिशत लोग एही देश के हवे। विश्व में धूम्रपान करे वाला कुल आबादी के 11.2 प्रतिशत हिस्सा भारत में रहेला।

अध्ययन के मुताबिक, साल 2005 के तुलना में साल 2015 में धूम्रपान से होखे वाली मौत में 4.7 प्रतिशत के बढ़ोतरी भईल बा। धूम्रपान के स्वास्थ्य प बहुत खराब असर पड़ेला अवुरी इ अक्षमता के दूसरका सबसे बड़ कारण बन गईल बा। एकरा से पहिले इ अक्षमता के तीसरा सबसे बड़ा कारण रहे।

अध्ययन में बतावल गईल कि, "साल 2015 में विश्व में होखे वाली मौत में से 11.5 प्रतिशत मौत के कारण धूम्रपान रहे, जवना में से 52.2 प्रतिशत लोग के मौत चार देश- चीन, भारत, अमेरिका अवुरी रूस में भईल।" इ अध्ययन 195 देश में धूम्रपान करे के आदत प आधारित बा।

एकरा में बतावल गईल बा कि, "महिला के ओर से धूम्रपान करे के मामला में तीन अगिला देश अमेरिका, चीन अवुरी भारत बा। इहां विश्व में धूम्रपान करे वाली महिला के 27.3 प्रतिशत आबादी रहेले।"

  • Share on:
Loading...