कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प गोली के बौछार, सीना में तीन गोली लागल, हालत गंभीर

अस्पताल में भर्ती शंकर यादव

अस्पताल में भर्ती शंकर यादव

पुलिस अवुरी प्रशासन के डर से बेपरवाह अपराधी मंगलवार के सांझ झारखंड के हजारीबाग में कोडरमा के कांग्रेस जिलाध्यक्ष शंकर यादव के गोली मार देले। हजारीबाग के चौपारण थानाक्षेत्र के ढ़ाब में भईल ए घटना के तुरंत बाद खून से लथपथ शंकर यादव के इलाज खाती तिलैया के एगो निजी क्लीनिक में भर्ती करावल गईल जहां से उनुका के रांची रेफर क दिहल गईल।

घटना के बारे में मिलल जानकारी के मुताबिक गोली चलावे वाला दुनो अपराधी एगो बाइक प सवार रहले अवुरी चेहरा प कपड़ा बन्हले रहले। पुलिस शंकर यादव के ड्राईवर कृष्णा के बतावला के आधार प मुनेश यादव नाम के एक अपराधी के गिरफ्तार क लेले बिया जबकि दुसरका के तलाश जारी बा।

पुलिस के दिहल बयान में शंकर यादव के ड्राईवर कृष्णा यादव बतवले कि हमेशा नीहन मंगलवार के भी उ शंकर यादव के लेके स्कॉर्पियो से चौपारण चंदवारा इलाका में उनुका पत्थर के खदान गईल रहले। उ कहले कि जसही ओ लोग के गाड़ी खदान तक पहुंचल ओसही एगो बाइक प सवर दु लोग उहाँ पहुंचले, जवना में से एक युवक शंकर यादव के कमर में पिस्टल सटा देलस।

कृष्णा यादव के मुताबिक मोबाइल प बात करत शंकर यादव पिस्टल सटते हड़बड़ा गईले अवुरी जसही घुमले ओसही उनुका कमर में सटल पिस्टल से गोली चल गईल। अभी तक दूर खाड़ा दुसरका आदमी गोली चले के आवाज़ सुनके ताबड़तोड़ शंकर यादव प फायरिंग शुरू क देलस अवुरी शंकर यादव के सीना में तीन गोली मार के दुनो फरार हो गईले।

रांची के अस्पताल में पुलिस के बयान देत कृष्णा यादव कहले कि उ गोली चलावे वाला एक आदमी के पहिले से जानता, उ चौपारण के भटबिगहा निवासी नाथो यादव के बेटा मुनेश यादव हवे।

बतावल जाता कि मुनेश यादव भी पत्थर के कारोबारी हवे अवुरी उनुकर खदान भी शंकर यादव के खदान के बगल में बिया। पुलिस के आशंका बा कि आरोपी कारोबारी दुश्मनी के चलते शंकर यादव के गोली मरले होई।

ऐने शंकर यादव के गोली लगला के खबर मिलला के बाद अस्पताल में उनुका से भेट करे पहुंचल राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवुरी पूर्व मंत्री अन्नपूर्णा देवी कहली कि इ सभ प्रशासन के नाकाम होखला के नतीजा हटे।

एहबीच रांची के अस्पताल में भर्ती शंकर यादव के हालत गंभीर बाटे। उनुकर इलाज करत डॉक्टर के मुताबिक उनुका शरीर में लागल तीनों गोली निकाल दिहल बा लेकिन उनुकर हालत अभियो गंभीर बाटे अवुरी अगिला 24 घंटा उनुका जीवन खाती बहुत महत्वपूर्ण होई।

  • Share on:
Loading...