बिहार-झारखंड में रिलायंस मोबाइल सेवा के बंद करी, नंबर पोर्ट करावे खाती भारी भीड़

बिहार-झारखंड में रिलायंस मोबाइल सेवा के बंद करी, नंबर पोर्ट करावे खाती भारी भीड़

बिहार अवुरी झारखंड के प्रमुख मोबाइल सेवा कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन अपना 'स्मार्ट' अवुरी 'रिम' नेटवर्क के बंद करे के फैसला कईलस। कंपनी अपना उपभोक्ता के मैसेज भेज के एकरा बारे में जानकारी देतिया अवुरी लोग से कवनो दोसर नेटवर्क में आपन नंबर पोर्ट करावे के कहतिया।

हालांकि बिहार-झारखंड के मोबाइल उपभोक्ता लगे दोसर नेटवर्क में अपना नंबर के पोर्ट करावे के विकल्प बा लेकिन अचानक भईल ए घोषणा से लोग हैरान बाड़े अवुरी आपन-आपन नंबर पोर्ट करावे खाती रिलायंस जियो, एयरटेल अवुरी आइडिया के काउंटर प भीड़ लगावे शुरू क देले बाड़े।

मालूम रहे कि बिहार-झारखंड के प्रमुख मोबाइल सेवा कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन के 'स्मार्ट' अवुरी 'रिम' सेवा से करीब एक करोड़ लोग जुडल बाड़े। अयीसना में दोसरा कंपनी में एतना नंबर के पोर्ट करावल एगो बड़ काम बन गईल बा।

हालांकि नंबर पोर्ट करावे के तरीका बहुत आसान बा। जवन उपभोक्ता अपना नंबर के दोसरा कंपनी में पोर्ट करावल चाहतारे ओ लोग के सबसे पहिले अपना मोबाइल से PORT लिख के 1900 प मैसेज करे के होई।

ए मैसेज के बदला एगो 6 अक्षर के कोड मिली, जवना के दोसरा कंपनी के पोर्ट वाला आवेदन फॉर्म में भरे के होई। फॉर्म के संगे बाकी जरूरी कागज जईसे, पहचान अवुरी पता के फोटोकॉपी लगावे के होई। ए प्रक्रिया के पूरा होखे में दु से तीन दिन तक समय लाग सकता। एकरा बाद उपभोक्ता के नंबर दोसरा कंपनी में पोर्ट हो जाई।

एक ओर रिलायंस के उपभोक्ता अपना नंबर के पोर्ट करावे खाती भागदौड़ करतारे त दोसरा ओर बाकी मोबाइल कंपनी ए मौका से जादे-से-जादे फायदा उठावे के फेर में लोग के ताबड़तोड़ मैसेज भेजता।

ऐने जवन लोग अपना नंबर के भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) में पोर्ट करावल चाहतारे ओ लोग के अलग परेशानी बा। जहां निजी कंपनी में नंबर पोर्ट करावे वाला लोग के सेवा तीसरा दिन शुरू हो जाता, उहें बीएसएनएल में एकरा खाती कवनो समय सीमा नईखे।

समूचा कार्रवाई के पूरा कईला के बावजूद एक-एक सप्ताह तक नंबर नईखे चालू होखत अवुरी बहुत भागदौड़ करे के पड़ता।

  • Share on:
Loading...