भिखारी ठाकुर के रचना में समाज के बुराई अवुरी कुरीति के ध्वस्त करे के ताकत बा: राजीव प्रताप रुडी

भिखारी ठाकुर के रचना में समाज के बुराई अवुरी कुरीति के ध्वस्त करे के ताकत बा: राजीव प्रताप रुडी

भोजपुरी लोकगीत अवुरी संगीत के महान रचनाकर भिखारी ठाकुर के जयंती प आयोजित एगो समारोह के संबोधित करत स्थानीय सांसद अवुरी पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रुडी कहले कि भिखारी ठाकुर के रचना में समाज के बुराई अवुरी कुरीति के ध्वस्त करे के ताकत बाटे।

रुडी कहले कि आज के समय में हमनी के युवा अपना लोक कला के भूला गइल बाड़े। उ कहले कि लोक कला के जिंदा राखे खाती हमनी के भिखारी ठाकुर समेत समाज के सभ महान रचनकर के रचना के पढे के होई अवुरी ओकरा मुताबिक अपना जीवन में बदलाव करे के होई।

उ कहले कि नाटक के क्षेत्र में 'बिदेशीया' शैली के जन्मदाता भिखारी ठाकुर के जन्म ओहिजे भईल जहां त्रेत्राकाल में प्रख्यात सारण्यक ऋषि आवेले। देश के पहिला राष्ट्रपति देवे के सौभाग्य भी एही धरती के मिलल त 'सम्पूर्ण क्रांति' के अलख जगावे वाला लोकनायक जयप्रकाश नारायण के जन्म भी एहिजे भईल।

भोजपुरी के 'शेक्सपियर' कहाए वाला भिखारी ठाकुर के जयंती समारोह में बोलत रुडी कहले कि उ पहिले से तय कार्यक्रम के चलते भिखारी ठाकुर के जन्मस्थली कुतुबपुर दियरा मे होखेवाला समारोह में शामिल नईखन होखे पावत अवुरी एकरा खाती हमेशा अफसोस रही।

रुडी कहले कि मनोरंजन के संगे मिलेवाला ज्ञान जल्दी अवुरी जादे समझ मे आवेला अवुरी भिखारी ठाकुर ए बात के बहुत नीमन से जानत रहले। भिखारी ठाकुर गंवई माहौल में अपना नाटक के माध्यम से लोग के मनोरंजन करत जीवन के सच्चा सीख, सामाजवाद अवुरी संस्कृति से तालमेल के शिक्षा देले।

उ कहले कि महाकवि कबीरदास जईसन भिखारी ठाकुर भी पढ़ल-लिखल ना रहले, तबहूँ दुनों के रचना अमर हो गईल। आज भिखारी ठाकुर के बहुत रचना प अलग-अलग विश्वविद्यालय में शोध कईल जाता।

रुडी कहले कि अँग्रेजी साहित्य में 'शेक्सपियर' अवुरी हिन्दी साहित्य में 'भारतेन्दु हरिश्चन्द्र' के जवन स्थान बा, उहे स्थान भोजपुरी साहित्य में भिखारी ठाकुर के बाटे।

अँग्रेजी अवुरी हिन्दी के दुनों साहित्यकारन से भिखारी ठाकुर के तुलना कईला प रुडी कहले कि शेक्सपियर अवुरी भारतेन्दु से तुलना करे के मतलब बा कि जईसे अँग्रेजी में शेक्सपियर अवुरी हिन्दी भारतेन्दु के एगो नाटककार के रूप में जादे मशहूर भईले ओसही भोजपुरी में भिखारी ठाकुर के नाटक जादे मशहूर बा।

  • Share on:
Loading...