बिहार के 2 युवक प बोकारो के एगो लईकी के अपहरण करे के आरोप, मामला दर्ज लेकिन कार्रवाई कुछ ना

कथित तौर प अपहरण भईल मुस्कान सिंह।

कथित तौर प अपहरण भईल मुस्कान सिंह।

बिहार के दु युवक एगो नाबालिग लईकी के बहला-फुसुला के नोकरी देवे के बहाना कथित तौर प अपहरण क लेले। ए मामला में बोकारो के बेरमो थाना में लईकी के परिवार के ओर से दुनो युवक के खिलाफ मामला दर्ज करावल बा। लेकिन अपहरण चार दिन बीतला के बादो लईकी अवुरी अपहरण करेवाला दुनो युवक के पता लगावे में पुलिस नाकाम बिया।

अपहरण भईल लईकी के परिवार के कहनाम बा कि पुलिस मामला के गंभीरता से नईखे लेत। परिवार ए मामला में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास अवुरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करे के आग्रह कईलस लेकिन कतहू से अभी कवनो जवाब नईखे मिलल।

मिलल जानकारी के मुताबिक 10 जून, 2018 के झारखंड के बोकारो जिला में बेरमों थाना के अनुग्रह नगर निवासी जितेंद्र कुमार सिंह के बेटी मुस्कान सिंह (16 साल) अपना घर से लापता हो गईली। मुस्कान घर छोड़े से पहिले एगो चिट्ठी छोड़ले बाड़ी, जवना में उ कहले बाड़ी कि उ अपना पैर प खाड़ा हो के देखईहे।

मुस्कान सिंह कथित चिट्ठी में अपना माता-पिता के संबोधित करत लिखले बाड़ी, "हम नईखी चाहत कि हमरा चलते आप लोग (परिवार) के बदनामी होखे। आप लोग कहेनि कि हम कुछ नईखी क सकत, त हम अपना पैर प खाड़ा होके देखाईब। हम देखाईब कि हमहूँ पईसा कमा सकेनी। आप लोग आपन ध्यान राखब। हम कसम देतानी, हमरा के खोजे के प्रयास मत करब। हम लवट के आईब, बस इंतज़ार करी।"

उ लिखले बाड़ी कि उ एगो लईकी के संगे ओकरे घरे रहिहे, लेकिन इ नईखी बता सकत कि उ लईकी कवन ह अवुरी कहाँ रहेले। मुस्कान साफ-साफ शब्द में चेतावत लिखले बाड़ी, "याद राखब, हमरा के खोजे के कोशिश मत करब, ना त हमार मरल मुंह देखब।"

कथित तौर प मुस्कान के लिखल चिट्ठी

ऐने लईकी के परिवार बिहार में औरंगाबाद जिला के बारुन थाना क्षेत्र के धनौनी निवासी मनीष कुमार सिंह अवुरी अनीश कुमार सिंह प नोकरी के झांसा देके मुस्कान के अपहरण करे के आरोप लगावत बोकारो के बेरमो थाना में मामला दर्ज करवले बाद।

पुलिस के दिहल आवेदन में मुस्कान के पिता कहले, "मनीष कुमार सिंह अवुरी अनीश कुमार सिंह 10 जून, 2018 के दुपहर साढ़े बारह बजे के करीब मुस्कान के नोकरी देवे के झांसा देके अपहरण क लेले। मुस्कान घर से 30 हज़ार नकद रुपया, 2 अंगूठी आ एक जोड़ी बाली आ एगो मोबाइल फोन ले गइल बाड़ी।"

मुस्कान के पिता के मुताबिक मनीष कुमार सिंह रिश्ता में चाचा लागे वाला विनोद कुमार सिंह के घरे बेरमों थाना के अनुग्रह नगर आवत रहले अवुरी एहिजे से उनुकर पहचान मुस्कान संगे भईल रहे।

ए मामला में लईकी के परिवार औरंगाबाद के एसएसपी से भी मुलाक़ात क चुकल बा अवुरी औरंगाबाद पुलिस के लापरवाही के शिकायत क चुकल बा। परिवार के कहनाम बा कि दुनो युवक के संबंध औरंगाबाद के एगो गिरोह से बाटे, जवन कि मानव तस्करी के धंधा करेला।

मुस्कान के अपहरण के मामला में पिता के ओर से पुलिस के दिहल आवेदन

ऐने बिहार पुलिस के दावा बा कि उ अपना स्तर प प्रयास करतिया लेकिन अभी तक लईकी चाहे दुनो आरोपी के बारे में कवनो जानकारी नईखे मिलल। ओने बोकारो में लईकी के मुहल्ला के लोग ए घटना के पीछा दोसरे कहानी बतावतारे। नाम ना प्रकाशित करे के शर्त प मुहल्ला के एगो निवासी कहले कि "मामला प्रेम प्रसंग के बाटे।"

हालांकि 'द भोजपुरी' अपना स्तर प परिवार, पुलिस अवुरी मुहल्ला के लोग के दावा के सच चाहे झूठ होखे के कवनो दावा नईखे करत।

बेरमो पुलिस के मुताबिक मुस्कान अपना चिट्ठी में लिखले बाड़ी कि उ अपना परिवार के बदनाम नईखी कईल चाहत। जबकि उनुकर परिवार इ नईखे बतावत कि मुस्कान कवना बदनामी से अपना परिवार के बचावल चाहत रहली। परिवार इहो नईखे बतावत कि जदी मुस्कान नोकरी करे खाती घर से गईली त पईसा अवुरी गहना काहें ले गईली। मनीष अवुरी मुस्कान के बीच कईसन जान-पहचान रहे अवुरी परिवार के मनीष के ऊपर शंका काहें भईल ए सवाल के जवाब भी साफ-साफ नईखे पाता।

  • Share on:
Loading...