प्रधानमंत्री के दबाव में रक्षा मंत्री देश से झूठ बोलली, देश भाजपा के 'जुमला स्ट्राइक' के शिकार भईल

राहुल कहले,

राहुल कहले, "प्रधानमंत्री कहेले कि हम प्रधानमंत्री ना चौकीदार बानी। देश के पता चल गईल कि प्रधानमंत्री चौकीदार ना भागीदार बाड़े।"

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव प चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प जोरदार हमला बोलत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहले कि हमनी के सभ केहु भाजपा के 'राजनीतिक हथियार' 'जुमला स्ट्राइक' के शिकार भईल बानी। राहुल गांधी एकरे संगे कहले कि प्रधानमंत्री उनुका आंख में आंख डाल के नईखन देख सकत।

राहुल कहले, "सभकेहु जनता कि प्रधानमंत्री के कुछ व्यापारी लोग संगे संबंध बा। राफेल सौदा अयीसने एगो आदमी के दिहल गईल जवना के चलते ओकरा हजारों करोड़ रुपया के फायदा भईल।" राहुल गांधी के ए टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुस्कात देखाई देले, जवना प कांग्रेस अध्यक्ष कहले, "हम देख सकतानी कि प्रधानमंत्री मूस्की मारतारे, लेकिन एकरे संगे उ नर्वस भी बाड़े। उ हमरा आंख में आंख डाल के नईखन देख सकत।"

उ कहले कि प्रधानमंत्री के बात खाली सूट-बूट वाला से होखला। प्रधानमंत्री करोड़ों लोग के बर्बाद क देले। लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कईल वादा के याद ताज़ा करत राहुल कहले कि प्रधानमंत्री कहले रहले कि 2 करोड़ युवा के हर साल रोजगार मिली, 15 लाख रुपया हरेक आदमी के खाता में आई, लेकिन आज बेरोजगार हरेक स्तर के पार क गईल बिया।

राहुल पुछले, "15 लाख रुपया वाला वादा के का भईल? 2 करोड़ नोकरी कहाँ गईल?" ए दौरान राहुल गांधी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटा जय शाह के कंपनी के बेतहासा मुनाफा के मामला भी उठवले।

राफेल सौदा प सरकार के घेरत राहुल गांधी कहले कि प्रधानमंत्री देश 10-20 बड़का कारोबारी खाती सबकुछ करेले। उ कहले कि प्रधानमंत्री के दबाव में रक्षा मंत्री झूठ बोलली। प्रधानमंत्री आ निर्मला जी (रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामण) बतावस कि केकर मदद भईल। यूपीए सरकार राफेल के दाम 520 करोड़ रुपया तय कईले रहे जबकि प्रधानमंत्री के जादू से राफेल के दाम 1600 करोड़ रुपया हो गईल।

राहुल कहले, "प्रधानमंत्री कहेले कि हम प्रधानमंत्री ना चौकीदार बानी। देश के पता चल गईल कि प्रधानमंत्री चौकीदार ना भागीदार बाड़े।"

विदेश नीति के मामला में सरकार प हमला करत राहुल कहले प्रधानमंत्री मोदी चीन क राष्ट्रपति के संगे गुजरात में नदी के किनारा झूला झुलत रहले। चीनी राष्ट्रपति लवट के गईले अवुरी डोकलम में सेना के भेज देले। हमनी के सैनिक आपन क्षमता देखवले अवुरी चीन के रोक देले। एकरा बाद प्रधानमंत्री बिना एजेंडा के चीन गईले अवुरी उहाँ डोकलम के चर्चा तक ना कईले। प्रधानमंत्री उ नईखन क सकत जवन कि हमनी के सैनिक क देले।

  • Share on:
Loading...