बिजली के तार गिरे से लोग के जान जाता, सरकार सभे जर्जर तार बदले के फैसला कईलस: नीतीश कुमार

बिजली के तार गिरे से लोग के जान जाता, सरकार सभे जर्जर तार बदले के फैसला कईलस: नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार के कहले कि बिहार में हरेक साल बिजली के तार गिरे से बहुत लोग के जान जाता। जब कबहु अयीसन घटना के बारे में पता चलता कि बिजली के तार गिरे से केहु के मौत हो गईल त ओ समय बहुत दुख होखेला। एकरा के रोके खाती सरकार सभे जर्जर तार बदले के फैसला कईले बिया। ए काम में 1500 करोड़ रुपया खर्चा होई अवुरी तीन साल में ए काम के पूरा करे के बा।

नीतीश कुमार कहले कि किसान के 95 पईसा प्रति यूनिट के जगह 75 पईसा प्रति यूनिट के दर से बिजली मिलता। सिंचाई खाती गांव में लागल सरकारी ट्यूबवेल के बिजली बाजार भाव से मिलत रहे। अब सरकारी ट्यूबवेल के भी 75 पईसा प्रति यूनिट के दर से बिजली मिलता। एकर संगही ट्यूबवेल के चलावे अवुरी ओकरा रख-रखाव के जिम्मेवारी गांव के लोग के दिहल गईल।

मुख्यमंत्री कहले कि मार्च 2019 तक बिहार में कृषि खाती अलग फीडर से बिजली मिले लागी। उ कहले कि बिजली चोरी रोकल बहुते जरूरी बा। बिजली कंपनी के नुकसान मत होखे एकरा खाती काम कईल जरूरी बा। बिहार में सोलर पावर से बिजली बनावे के योजना प काम चलता। लखीसराय के कजरा अवुरी भागलपुर के पिरपैती में सोलर पार्क बनावल जाता।

  • Share on:
Loading...