सहयोगी के खिलाफ बोलल ठीक नईखे, उपेंद्र कुशवाहा दु नाव के सवारी मत करस: चिराग

सहयोगी के खिलाफ बोलल ठीक नईखे, उपेंद्र कुशवाहा दु नाव के सवारी मत करस: चिराग

सीट बंटवारा के मुद्दा प राजग(एनडीए) में चलत उठापटक के बीच लोजपा सांसद चिराग पासवान रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के दु नाव के सवारी ना करे नसीहत देले। सोमवार के पटना में चिराग पासवान कहले कि उपेंद्र कुशवाहा दु नाव प सवार मत होखस। कवनो नेता के खुद अपना गठबंधन के सहयोगी के खिलाफ बोलल ठीक नईखे, इ बहुत गलत बात बा।

चिराग आगे कहले कि एकरा से साफ लागता कि कुशवाहा एनडीए गठबंधन से अलग होखल चाहतारे। उनुका सीट बंटवारा के मुद्दा प अंतिम पैगाम दिहल ठीक नईखे। सांसद कहले कि उपेंद्र कुशवाहा फिलहाल दबाव के राजनीति करतारे। एकरा संगही चिराग भाजपा से जतना जल्दी हो सके सीट के घोषणा करे के मांग कईले।

उहें, राम मंदिर के मुद्दा प चिराग पासवान कहले कि राम मंदिर भाजपा के एजेंडा ह अवुरी ए मसला के हल न्यायालय के माध्यम से ही निकले के चाही। सरकार जदी राम मंदिर से जुड़ल अध्यादेश चाहे बिल ले आवल चाहतिया त पहिले अपना सहयोगी से विचार विमर्श करे के चाही।

एकरा से पहिले सीट बंटवारा के मुद्दा प राजग में नाराज चलत रालोसपा भाजपा के दु-टूक पैगाम भेजले बिया। पार्टी ट्वीट के माध्यम से न्याय-अन्याय के हवाला देत साल 2014 के तुलना में अधिका सीट के मांग कईले बिया। हालांकि, भाजपा के विकल्प देत कहल बा कि अधिका सीट देवे में जदी दिक्कत होखता त कम-से-कम सम्मानजनक सीट दिहल जाए। पछिला बेर रालोसपा के लोकसभा के तीन सीट दिहल रहे, जवना में सभे सीट प ओकर जीत भईल रहे।

कुशवाहा अपना ट्वीट में कहले कि- "दो न्याय अगर तो ज्यादा दो। पर, इसमें भी यदि बाधा हो। तो दे दो केवल हमारा सम्मान, रखो अपनी धरती तमाम।"

  • Share on:
Loading...