'नागराज' के फूंफकारे से लोग मर जाले, 'सांपराज' के डंसला के बादो जहर उतर जाला

'नागराज' के फूंफकारे से लोग मर जाले, 'सांपराज' के डंसला के बादो जहर उतर जाला

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गंठबंधन (राजग) अवुरी महागठबंधन के तुलना 'नागराज' अवुरी 'सांपराज' से कईले। बिहार के औरंगाबाद में बुधवार के एगो राजनीतिक कार्यक्रम में पहुंचल जीतन मांझी पत्रकारन के सवाल के जवाब में कहले कि एक 'नागराज' अवुरी एक 'सांपराज' ह।

जीतन राम मांझी सीधा तौर प ना लेकिन घूमा फिरा के अतना जरूर कहले कि, लोग कहेला न कि एक सांपराज होखेला अवुरी एक नागराज होखेला। नागराज के फूंफकारे से लोग मर जाले लेकिन सांपराज के डंसला के बादो मंतर से ओकर जहर उतार दिहल जाला, जवना से आदमी बाच जाला। मांझी के इशारा एनडीए 'नागराज' अवुरी महागठबंधन सांपराज के ओर रहे।

मांझी के ए बयान के महागठबंधन प लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारा में दबाव बनावे के रूप में देखल जाता। एकरा से पहिलहू मांझी कह चुकल बाड़े कि जदी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के सम्मानजनक सीट ना मिलल, त उनुकर पार्टी लोकसभा चुनाव ना लड़ी।

एने, जीतन मांझी के बयान के बारे में राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय​ तिवारी कहले कि जीतनराम मांझी महागठबंधन के सम्मानित नेता हवे अवुरी उनुकर इशारा जदयू के ओर होई।

मालूम रहे कि हम पार्टी के नेता आ प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल कहले रहले कि राजनीतिक दल के होखे के नाते सभके इ अधिकार बा कि उ अपना खाती अधिका से अधिका सीट के दावा करे। लेकिन एकरा से पहिले सभे दल के अपना ताकत अवुरी हैसियत के अंदाज करे के चाही कि ओकर हलात कईसन बा। सिर्फ सीट हासिल करे से कुछ ना होखे, जीतल भी जरूरी होखेला।

पटेल आगे कहले कि पार्टी चुनाव खाती पूरा तरह से तैयार बिया। लेकिन जदी हम पार्टी के सम्मानजनक सीट ना मिली त पार्टी चुनाव ना लड़ी।

  • Share on:
Loading...