सत्ता के नशा में चूर नीतीश के दिमागी संतुलन बिगड़ गईल बा: जीतन राम मांझी

सत्ता के नशा में चूर नीतीश के दिमागी संतुलन बिगड़ गईल बा: जीतन राम मांझी

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख आ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प राजनीतिक हमला बोलत कहले कि उनुकर मानसिक संतुलन बिगड़ गईल बा। उ कबो उपेंद्र कुशवाहा के नीच बोलतारे त कबो मुकेश सहनी के सड़क छाप कहतारे।

जीतन राम मांझी कहले कि नीतीश कुमार सत्ता के नशा में चूर हो गईल बाड़े। अयीसना में उ अब अनाप-शनाप बयान देतारे। उ कहले कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अपना नीच अवुरी सड़क छाप जईसन बयान खाती माफी मांगे के चाही। मांझी कहले कि जदी नीतीश माफी नईखन मांगत त हम पार्टी समूचा राज्य में सरकार के खिलाफ आंदोलन करी।

उहें, जहानाबाद के सांसद अरुण कुमार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प ताना मारत कहले कि सत्ता के बोझ के चलते नीतीश मानसिक गड़बड़ी के शिकार हो गईल बाड़े। उ कहले कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के पद प बईठल बाड़े, अयीसना में उनुका ओ पद के गरिमा बनाए राखे खाती अपना शब्द प नियंत्रण राखे के जरूरत बा। लेकिन उ अयीसन नईखन करत।

मालूम रहे कि नीतीश कुमार के सड़क छाप अवुरी नीच जईसन बयान के विरोध में गुरुवार के बिहार महागठबंधन के ओर से राजभवन मार्च निकालल गईल रहे।

महागठबंधन के ए मार्च प जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ताना मारत महागठबंधन के होटवार मार्च करे के सलाह देले। उ कहले कि जदी महागठबंधन के नेता होटवार मार्च करते त सीट बंटवारा प फैसला हो जाईत। महागठबंधन के ए मार्च में पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी अवुरी रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा शामिल ना भईले।

भाजपा के विधायक जीवेश कुमार कहले कि महागठबंधन के मार्च के केहु के समर्थन ना मिलल। ए मार्च में ना जीतन राम मांझी शामिल भईले नाही उपेंद्र कुशवाहा। उ कहले कि दुनों नेता महागठबंधन में बईठ के खुद के मुख्यमंत्री बने के ख्याली पुलाव पकावतारे।

  • Share on:
Loading...