'दलित-पिछड़ल के पुरज़ोर पुकार, जे आरक्षण के हाथ लगाई, उ जियते जर जाई': तेजस्वी

'दलित-पिछड़ल के पुरज़ोर पुकार, जे आरक्षण के हाथ लगाई, उ जियते जर जाई': तेजस्वी

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री अवुरी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आरक्षण प एक बेर फिर दहाड़ लगावत कहले कि, 'जे एकरा के हाथ लगाई, उ जियते जर जाई।' सुप्रीम कोर्ट सरकार के 13 पॉइंट रोस्टर सिस्टम से जुड़ल पुनर्विचार याचिका खारिज क देलस। अयीसना में करीब 21 दल समेत कई संगठन एकरा विरोध में मंगलवार के भारत बंद बोलवलस।

ए कड़ी में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटा तेजस्वी यादव अपना ट्वीट में लिखले कि, 'जे आरक्षण के हाथ लगाई, उ जियते जर जाई। दलित-पिछड़ल के पुरज़ोर पुकार। 90 प्रतिशत आरक्षण हमनी के अधिकार।'

मालूम रहे कि सुप्रीम कोर्ट सरकार के 13 पॉइंट रोस्टर सिस्टम से जुड़ल पुनर्विचार याचिका खारिज क देलस। ए फैसला के विरोध में 21 दल समेत कई संगठन एकर विरोध में मंगलवार के भारत बंद बोलवलस।

13 प्वाइंट रोस्टर से जुड़ल अलग-अलग राजनीतिक दल के ओर से कईल भारत बंद के असर बिहार में देखाई देता। बंद समर्थक कहीं ट्रेन रोकले त कहीं सड़क प आवाजाही के बाधित क देले।

एकरा से पहिले सोमवार के तेजस्वी यादव कहले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के ओर से 13 प्वाइंट रोस्टर के तहत दलित-पिछड़ल के उच्च शिक्षा में नौकरी खत्म करे प रामबिलास पासवान जी प्रधानमंत्री के साधुवाद देके कहतारे कि दलित के आरक्षण खतम क मोदी जी 56 ना “156” इंच के सीना देखवले बाड़े। वाह चाचा! अतना चमचई!

तेजस्वी कहले कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछड़ल अवुरी पासवान जी दलित के नाम प कलंकित राजनीति करतारे। भाजपा विश्वविद्यालय में वंचित के आरक्षण खतम क देलस। जातिगत जनगणना के आँकड़ा छिपा लेलस। निजी क्षेत्र में आरक्षण लागू ना कईलस। अवुरी इ दुनों (नीतीश-रामबिलास) जातिवादी संगठन आरएसएस के कीर्तन करतारे।

राजद नेता कहले कि जब तक पासवान जी अवुरी नीतीश जी जईसन लोग आरएसएस के पालना में खेलत रहिहे तब तक संविधान के जगह मनुस्मृति माने वाला लोग दलित-पिछड़ल के आरक्षण के सरेआम धज्जी उड़ावत रहिहे। भाजपा दिनदहाड़े वंचित के नौकरी अवुरी आरक्षण खतम करतिया अवुरी इ लोग उनुकर गुणगान करतारे।

  • Share on:
Loading...